मोबाइल से इंग्लिश बोलना कैसे सीखे इन हिंदी | इंग्लिश क्यों जरूरी है - seekhoyha.in

दोस्तों अगर आप गूगल पर मोबाइल से इंग्लिश बोलना कैसे सीखे इन हिंदी, या इंग्लिश बोलना और लिखना कैसे सीखे आदि सर्च कर रहे हैं और आप हमारी वेबसाइट पर आए हैं तो आप बिल्कुल सही जगह पर है हम यहां आपको इंग्लिश क्यों जरूरी है और english kaise bolate hain आदि पर गहनता से चर्चा करेंगे। 


मोबाइल से इंग्लिश बोलना कैसे सीखे इन हिंदी
मोबाइल से इंग्लिश बोलना कैसे सीखे इन हिंदी


इस आर्टिकल को शुरू करने से पहले मैं आपसे एक विनती करना चाहता हूं की इस आर्टिकल में दिए गए सभी तथ्यों को आप बिल्कुल ध्यान से और धीरे-धीरे पढ़ेंगे ताकि आप इस लेख का 100% लाभ उठा सकें और एक बार फिर से आपका स्वागत है आपके अपने वेबसाइट seekhoyha.in पर। 

घर बैठे मोबाइल से इंग्लिश बोलना कैसे सीखे इन हिंदी और इंग्लिश क्यों जरूरी है

दोस्तों जिस प्रकार से दुनिया आधुनिक होते जा रही है उसी प्रकार से अंग्रेजी का चलन अब लोगों के बीच काफी ज्यादा बढ़ रहा है और आप यह खुद महसूस कर सकते हैं की इंग्लिश क्यों जरूरी है ऐसे में भारत के सभी लोगों को अंग्रेजी बोलना आना चाहिए अन्यथा आप समाज में बहुत पीछे रह जाएंगे। अगर आपको अंग्रेजी बोलनी आती है तो आप खुद ही है महसूस कर सकते हैं की आपको समाज अर्थात समाज के लोग किस प्रकार की नजरियों से देखते हैं। संभवत उनकी दृष्टि आप पर अच्छी होगी। चलो अब मोबाइल से इंग्लिश बोलना कैसे सीखे इन हिंदी पर बात करते हैं। 

इंग्लिश क्यों जरूरी है

दोस्तों आज के समय में इंग्लिश जीवन का एक अहम हिस्सा बन चुका है अगर आपको अंग्रेजी बोलनी नहीं आती है तो आपको समाज में बहुत पीछे मान लिया जाता है और एक अलग ही प्रकार की नजरों से देखा जाता है। और यह आपको भी पता होगा की इंग्लिश क्यों जरूरी है।  दोस्तों यूं तो भारत में हर साल हजारों लाखों बच्चे 12वीं और स्नातक पूरा करते हैं लेकिन उन्हें इंग्लिश ना आने की वजह से समाज के लोग, अपने रिश्तेदार या फिर अपने दोस्त वगैरह अनपढ़ कहने लग जाते है और वही से एक शब्द की उत्पत्ति होती है “पढ़ा लिखा अनपढ़”  या “डिग्री वाला  अनपढ़” और यही से हमारे शिक्षा व्यवस्था पर सवाल उठता है और इंग्लिश की कमजोरी के चलते एक बच्चे के भविष्य पर प्रश्नचिन्ह लग जाता है और ऐसा हो भी क्यों ना, आखिर भारत का हर एक छोटे से छोटा काम और बड़े से बड़ा काम सब अंग्रेजी में ही जो होता है। 

ऐसा नहीं है कि हिंदी का प्रयोग नहीं होता है लेकिन ऐसा जरूर है की हिंदी का दायरा कहीं ना कहीं सिमटता जा रहा है क्योंकि अंग्रेजी सीखने के लिए चाहत दिन प्रतिदिन लोगों में बढ़ रही है, लोग इंग्लिश सीखना चाहते हैं, लोग अंग्रेजी अपनी उज्जवल भविष्य के लिए सीखना चाहते हैं और कुछ लोग अपने व्यक्तित्व के लिए तो कुछ लोग अपने बच्चों के लिए इंग्लिश सीखना चाहते हैं और और कुछ लोग नौकरी के लिए अंग्रेजी सीखना चाहते हैं । लोग अब अपनी कमजोरी को अपनी ताकत बनाना चाहते हैं और इसके लिए लोग भारी भरकम फीस वाले कोचिंग सेंटरों पर अपना दाखिला करवाते हैं और इनके बीच फ़सता है तो वह मध्यम वर्ग के लोग जिनके पास इन कोचिंग सेंटरों को देने के लिए पैसा नहीं है जिनका जीवन प्रयासों और कठिनाइयों से भरपूर होता हैं जिन्हें दो वक्त की रोटी खाने के लिए कड़ी धूप में अपने शरीर की चमड़ी को जलाना पड़ता है । भला यह लोग इन कोचिंग सेंटर के लिए पैसे कहां से लाएंगे और फिर उनकी अंग्रेजी सीखने की चाहत उनके ख्वाबों के दुनिया में कहीं दूर अंधेरों के बीच अपना रास्ता भटक जाती है और फिर धीरे-धीरे उनके अंग्रेजी सीखने की चाहत मर जाती है और फिर यहीं से एक नया वर्ग पैदा होता है जिसे हम मजदूर वर्ग या श्रमिक वर्ग के नाम से जानते हैं । 

और हम नहीं चाहते कि कोई भी बच्चा पढ़ लिख कर श्रमिक वर्ग का हिस्सा बने इसलिए आप स्वयं को आज ही हमारे साथ जोड़कर एक नए समाज की शुरुआत करें। एक ऐसा समाज जहाँ प्रत्येक को अंग्रेजी बोलना आता हो। 

यह भी पढ़े!

Is Am Are का यूज़ कैसे करे 

Was  Were का यूज़ कैसे करे 

Has Have का यूज़  कैसे करे 

अंग्रेजी भाषा आने से आपको कौन-कौन सी नौकरियां मिल सकती है

दोस्तों वैसे तो जीवन की हर एक जगह पर अंग्रेजी का प्रयोग होता है। दोस्तों हमारा यह खुद का मानना है कि लगभग भारत की सभी नौकरियों में अंग्रेजी का एक ऐसा होता है और बिना अंग्रेजी बोलना सीखें आप प्राइवेट कंपनी में भी नौकरी नहीं ले सकते हो। 
लगभग भारत की सभी सरकारी नौकरियों में भी इंग्लिश मांगी जाती है इसलिए आपको इंग्लिश सीखना जरूरी है। नीचे कुछ प्राइवेट नौकरियों के नाम देखें जिनमें इंग्लिश मांगी जाती है :-
  •  भारत में हजारों की संख्या में इंग्लिश कॉल सेंटर ( बीपीओ ) है
  • सभी मल्टी नेशनल कंपनी में
  • सरकारी और प्राइवेट दवाई विभाग में
  • आपके क्षेत्र के मेडिकोज में
  • बिजनेस डेवलपमेंट एजुकेटिव के पद पर
  • किसी भी प्राइवेट या सरकारी बैंक में
  • सेल्स एजुकेटेड के पद पर

ऐसे ही हजारों नौकरियां हैं जिनके लिए आप अपना इंटरव्यू दे सकते हैं लेकिन उसके लिए आपको इंग्लिश बोलना आना चाहिए। 
दोस्तों मैं उम्मीद करता हूं कि आपको हमारा यह लेख मोबाइल से इंग्लिश बोलना कैसे सीखे इन हिंदी और इंग्लिश क्यों जरूरी है पसंद आ रहा होगा। इसे शेयर जरूर करे। 

क्या फ़्री में अंग्रेजी सीख सकते हैं

दोस्तों जिस प्रकार हर एक सिक्के के दो पहलू होता है उसी प्रकार फ्री में इंग्लिश कैसे सीखे इसके भी दो मत है, वैसे तो इंग्लिश सीखना कोई रॉकेट साइंस नहीं है जिसे सीखने के लिए आपको खूब पैसा खर्च करना पड़ेगा या आप अंग्रेजी सीख ही नहीं पाएंगे | दोस्तों यह सभी बातें निर्भर करती है की बच्चे का माहौल कैसा है या फिर वह बच्चा किस प्रकार के परिवार से संबंध रखता है। 
अगर सीखने वाले बच्चे का माहौल अच्छा होगा और उसके परिवार में लोग अंग्रेजी में बातें करते हो तो जाहिर सी बात है कि वह बच्चा कुछ ही समय में अच्छी अंग्रेजी सीख जाएगा। और ऐसा भी नहीं है की फ्री में अंग्रेजी सीखने के लिए एक अच्छा माहौल चाहिए या फिर घर के सदस्यों का अंग्रेजी में बोलना जरूरी है। 
अंग्रेजी बोलना सीखने वाले छात्र के अंदर एक जिद्द होनी चाहिए, एक जुनून होना चाहिए। जिसके चलते वह छात्र अपने लक्ष्य की ओर निरंतर बढ़ते रहे। 

घर बैठे फ्री में मोबाइल से इंग्लिश बोलना कैसे सीखे इन हिंदी

अक्सर यह सवाल सभी के मन में आता है की घर बैठे फ्री में मोबाइल से इंग्लिश बोलना कैसे सीखे इन हिंदी और जिसके लिए आप यहां वहां जवाब तलाशने में लग जाते हो। ऐसी कुछ बातें हैं जिन्हें समझ कर आप फ्री में इंग्लिश बोलना सीख सकते हो :-
  • सबसे पहले आपको कहना होगा की की - मैं इंग्लिश बोल सकता हूं -
  • आपको अपने अंदर इंग्लिश सीखने का जुनून पैदा करना होगा। 
  • आपको प्रत्येक दिन कम से कम 5 शब्द याद करने होंगे। 
  • प्रत्येक दिन अपने से छोटी क्लास के अंग्रेजी किताबों को 15 मिनट के लिए पढ़ना होगा। 
  • रोजाना आपको 10 मिनट मोबाइल पर अंग्रेजी के वीडियो को सुनना होगा। 
  • रोजाना कम से कम 20 मिनट अपनी टूटी फूटी अंग्रेजी में बोलने की कोशिश करें। 
  • शुरुआती समय में इंग्लिश की जगह पर हिंगलिश बोले अर्थात हिंदी बोलचाल की भाषा में अंग्रेजी शब्दों का प्रयोग करें। 
  • एक-एक करके मोबाइल से प्रत्येक दिन सभी सहायक क्रियाओं को पढ़ें। 
  • अपने आसपास अपने दोस्तों के साथ अंग्रेजी का माहौल बनाएं। 
  • इंटरनेट पर अंग्रेजी सीखने के लिए बहुत सारे एप्लीकेशन है जिन्हें आप निकालकर प्रत्येक दिन अभ्यास कर सकते हो। 

आपने क्या सीखा

आपने ऊपर देखा कि अंग्रेजी सूचना कोई मुश्किल काम नहीं है अगर अगर इसे कोई मुश्किल में बनाता है तो वह आपकी सोच है। इसलिए हमेशा सकारात्मक सोचिए और अपने लक्ष्य की ओर निरंतर बढ़ते रहिए। और अब मैं आपसे अलविदा लेता हूं और मिलता हूं अगली एक और नई रुचि से भरी आर्टिकल के साथ। 

मैं उम्मीद करता हूं कि आपको यह आर्टिकल मोबाइल से इंग्लिश बोलना कैसे सीखे इन हिंदी और इंग्लिश क्यों जरूरी है  - पसंद आया होगा और इससे काफी कुछ सीखने को और समझने को मिला होगा अगर ऐसा है तो इसे शेयर जरूर करें और उन सभी मित्रों के साथ शेयर करें जिन्हें इंग्लिश से डर लगता है। 

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.